सर्वाधिकार सुरक्षित : - यहाँ प्रकाशित कवितायेँ और टिप्पणियाँ बिना लेखक की पूर्व अनुमति के कहीं भी प्रकाशित करना पूर्णतया अवैध है.

Followers of Pahchan

Jan 28, 2012

अब बस .... इंतज़ार होगा ?





अब बस ...इंतजार  होगा .....तेरा  ही इंतजार  होगा !!
अब मेरे दिल मे किसके घर आने का इंतज़ार होगा ?


अब किसके दिन भर के सवाल , जवाब पूछेंगे मुझे ,
अब किसकी आँखों मे अपना अक्स देखूँगी मैं उम्र-भर ,
किसकी खुली आँखों को मेरे हाथों का अब इंतजार होगा ,
अब मेरे दिल मे किसके घर आने का इंतज़ार होगा ?

अब सुबह किसके सपनो से जगाएँगी मुझे ,
अब रातें किसकी करवटों से जागेंगी उम्र-भर ,
आँखों के बहते आंसुओ को किसके हाथों का अब इंतजार होगा ,
अब मेरे दिल मे किसके घर आने का इंतज़ार होगा ?


अब किस के कांधे पर सुकून से नींद आएगी मुझे ,
अब किस से मांगूंगी , फूलों की किस्तें मैं उम्र-भर ,
बिखरे इन बालों को किसके सहलाने का अब इंतजार होगा
अब मेरे दिल मे किसके घर आने का इंतज़ार होगा ?

  अब किसको हँसता देखकर सांसे आएँगी मुझे ,
अब किस से करुँगी उसी की शिकायतें मैं उम्र-भर ,
मेरे बचपने पर अब किसके "ख्याल रखने" का मुझे इंतजार होगा ,
अब मेरे दिल मे किसके घर आने का इंतज़ार होगा ?


- Anjali Maahil 


11 comments:

  1. मन के भावों को खूबसूरती से उकेरा है

    ReplyDelete
  2. बहुत भावपूर्ण ...सीधे मर्म तक पहुँच रही है ...!!

    ReplyDelete
  3. बहुत मार्मिक रचना है...मन के भावो को बहुत गहराई से व्यक्त किया है..सीधे दिल को कचोटती भावाभिव्यक्ति है...

    ReplyDelete
  4. बहुत अच्छी तरह से मनोभावों को व्यक्त किया है..
    दिल को छू गयी...

    ReplyDelete
  5. बहुत अच्छा नग़मा, एक खूबसूरत गीत जैसा!

    ReplyDelete
  6. गहरे भाव लिए सुंदर रचना।

    ReplyDelete
  7. उफ़ अभी भी इंतज़ार ही हैं .......बहुत बढिया अभिव्यक्ति

    ReplyDelete
  8. हैडर में बड़ी बल्ले बल्ले फ़ोटो लगी हुई है जी☺

    ReplyDelete
  9. मन के भावो को शब्द दे दिए आपने......

    ReplyDelete
  10. इंतज़ार....इंतज़ार....इंतज़ार....!!

    ReplyDelete

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...